कैबिनेट ने ड्रोन निर्माताओं के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दी


कैबिनेट ने ड्रोन निर्माताओं के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ड्रोन निर्माताओं के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दी है

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को ड्रोन और ड्रोन घटकों के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दे दी, जिसके तहत अगले तीन वर्षों में लगभग 5,000 करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद है। योजना के तहत अगले तीन वर्षों में निर्माताओं को 120 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

साथ ही ड्रोन और ड्रोन घटकों के निर्माताओं को उनके द्वारा किए गए मूल्यवर्धन के 20 प्रतिशत तक प्रोत्साहन दिया जाएगा।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट बैठक के बाद मीडियाकर्मियों से कहा कि यह योजना ड्रोन के उत्पादन में शामिल स्टार्ट-अप को भी प्रोत्साहित करेगी और साथ ही इस क्षेत्र में 10,000 प्रत्यक्ष रोजगार पैदा करने में भी मदद करेगी।

ड्रोन उत्पादन उद्योग का वार्षिक कारोबार 60 करोड़ रुपये से बढ़ने की उम्मीद है, जो कि 2020-21 में दर्ज किया गया था, जो 2023-24 तक लगभग 900 करोड़ रुपये हो गया।

वार्षिक बिक्री कारोबार के मामले में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) स्टार्टअप के लिए पात्रता मानदंड ड्रोन के लिए 2 करोड़ रुपये और ड्रोन घटकों के लिए 50 लाख रुपये रखा गया है।

वार्षिक बिक्री कारोबार के मामले में गैर-एमएसएमई कंपनियों के लिए पात्रता मानदंड ड्रोन के लिए 4 करोड़ रुपये और ड्रोन घटकों के लिए 1 करोड़ रुपये रखा गया है।

.



Source link

Leave a Comment